क्या आप साहीवाल गाय के बारे में यह तथ्य जानते हैं? SAHIWAL COW

  • क्या आपको पता है कि साहीवाल Sahiwal Cow भारत की सभी देशी गायों की नस्लों में से सबसे श्रेष्ठ नस्ल है?
  • क्या आप जानते हैं कि साहीवाल सभी देशी नस्लों के मुक़ाबले अधिक दूध देती है?
  • क्या आप जानते हैं कि साहीवाल की कद-काठी गीर, थारपारकर, कांकरेज और हरयाणा से छोटी होती है मगर दूध उनसे ज़्यादा देती है?
  • क्या आप जानते हैं कि साहीवाल का रंग लाल होता है। इसका रंग सोने के रंग जैसा होता है?
  • क्या आप जानते हैं साहीवाल पंजाब प्रान्त की नस्ल है?

  • क्या आप जानते हैं कि अगर इस सुंदर नस्ल का संरक्षण न किया गया तो यह लुप्त भी हो सकती है?
साहीवाल गाय SAHIWAL COW

साहीवाल गाय SAHIWAL COW :-

आएं आज आपको साहीवाल के बारे में बताते हैं। जी हाँ, साहीवाल भारत की सर्वश्रेष्ठ देशी गायों की नस्ल हैं। साहीवाल का मूल स्थान पंजाब है। साहीवाल हज़ारों सालों से पंजाब की भूमि पर पैदा होकर नयें-नयें सांचों में ढल रही है। साहीवाल पंजाब के साथ-साथ राजिस्थान और हरयाणा में भी पाई जाती है। पंजाब में बसने वाले गुज्जर लोग इन गायों को सैकड़ों सालों से पालते आ रहे हैं। उनकी गुजर-बसर साहीवाल गायों के दूध से होती है। यही कारण था कि साहीवाल हज़ारों सालों से पंजाब में संरक्षित और संवर्धित होती रही।

साहीवाल गाय SAHIWAL COW

चिंता की बात यह है कि अब साहीवाल नस्ल की शुद्ध गायों की संख्या बहुत कम रह गई है। आप कह सकते हैं कि यह संख्या हज़ारों में ही होगी। इसका कारण Cross Breeding Policy है। देश में पिछले 70 सालों से क्रॉस ब्रीडिंग पालिसी (Cross Breeding Policy) चल रही है। इस पालिसी का मंत्व सिर्फ अंग्रेजी गायों का विस्तार करना है। इसी कारण साहीवाल गाय पतन के कगार पर पहुंच गई है। जैसे-जैसे Cross Breeding Policy देश में अपने पैर जमाती गई वैसे-वैसे साहीवाल हाशिए पर पहुंच गई। जिस पेड़ की डाली पर बैठे थे हम उसी को काटते रहे। हमारी आखों के सामने साहीवाल Sahiwal Cow का त्रिस्कार होता रहा और हम मूक बनकर देखते रहे। यह क्रम अभी भी चल रहा है।
लेकिन सयाने लोग कहते हैं कि सुबह का भूला अगर शाम को घर वापिस आ जाये तो उसे भुला नहीं कहते। शाम हो चुकी है, अब घर आने का समय है।

पंजाब की देशी साहीवाल गाय SAHIWAL COW IN PUNJAB :-

पंजाब के लोगों को गर्व होना चाहिए कि उनके प्रान्त की नस्ल भारत की सभी देशी गायों की नस्लों की महारानी है। हालाँकि सभी देशी गायें ही श्रेष्ठ हैं, लेकिन अगर दूध की बात की जाये तो साहीवाल का कोई मुक़ाबला नहीं है। अच्छी देख-भाल और नस्ल सुधार से साहीवाल 25 से लेकर 30 किलोग्राम तक दूध एक दिन में दे सकती है। इसके दूध में फैट भी ज़्यादा होता है। साहीवाल Sahiwal Cow का दूध पीने में भी बहुत स्वादिष्ट होता है।

SAHIWAL CATTLE 

आज लोगों में देशी गायों को लेकर जागरूकता बढ़ चुकी है। लोगों को यह पता चल गया है कि अंग्रेजी गाय का दूध बीमारियां फैलाता है जबकि देशी गायों का दूध माँ के दूध जैसा होता है। इसी लिए गाय को माँ कहा गया है। आज देशी गायों का दूध 100 रुपया से लेकर 150 प्रति किलोग्राम के मूल्य पर बिक रहा है। इसके विपरीत अंग्रेजी गायों के दूध का मूल्य 28 रुपया से लेकर 35 रुपया ही है। अगर इस समय किसान साहीवाल जैसी दुधारू गायों की नस्लों को अपने घर में रखता है तो उसे दो तरह के फायदे होंगे। एक तो उसको अपने परिवार के लिए अमृत तुल्य दूध मिलेगा और दूसरा उसे बाजार में साहीवाल के दूध का मुल्य भी अच्छा-खासा मिलेगा जिससे किसान की आमदनी में इजाफा होगा। जब गौपालक समृद्ध होगा तो भारत समृद्ध होगा। समृद्ध भारत में गौपालक का बड़ा योगदान होगा।

साहीवाल गाय SAHIWAL COW

साहीवाल Sahiwal Cattle देशी गाय समृद्ध भारत में अपना अलग योगदान डालेंगी। हम पंजाब के किसानों से निवेदन करते हैं कि इस प्यारी सी सुंदर नस्ल को अपने घरों में पालें। साहीवाल की संख्या को बढ़ाने की आवश्यकता है। साहीवाल को हज़ारों से लाखों तक लेकर जाना है। इसके लिए सबको अपने अपने स्तर पर प्रयास करने होंगे।

साहीवाल गायों  के विस्तार हेतु सरकारों की पहल SAHIWAL CATTLE :-

अब सरकारें भी देशी गायों को लेकर गंभीर हैं। भारत सरकार देशी गायों को बढ़ाने के लिए नई-नई नीतियाँ बना रही है। राज्य सरकारें भी उन नीतियों को अपने-अपने राज्यों में किर्यान्वित कर रही हैं। वो दिन दूर नहीं जब पंजाब में फिर से साहीवाल गायों के दूध की नदियाँ बहेंगी। 

कामधेनु गौशाला (नूरमहल) साहीवाल को पिछले 15 सालों से पाल रहा है। अगर आप साहीवाल के बारे

में अधिक जानकारी लेना चाहते हैं या साहीवाल गायों का दर्शन करना चाहते हैं तो आप कामधेनु गौशाला में सादर आमंत्रित हैं। विस्तृत जानकारी के लिए नीचे दी गई वीडियो को जरूर देखें-

इस प्रकार की और जानकारी प्राप्त करने हेतु यहां  क्लिक करें –

आपको कामधेनु गौशाला के प्रयास कैसे लगे हमें कमेंट में जरूर बताएगा। धन्यवाद।
हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें -यहां  क्लिक करें |

6 thoughts on “क्या आप साहीवाल गाय के बारे में यह तथ्य जानते हैं? SAHIWAL COW”

  1. जय गौमाता श्रीमान जी मुझे हमारी गौमाता के लिऐ सिमन्स मिलेगा क्या त्रिवेणी गैयासे तयार किऐ हुवे नंदी का.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *